Menu
header photo

SHEKHAWATI TODAY

16 अप्रेल से 30 अप्रेल 2021 तक के समाचार

फतेहपुर

 

अहिंसक व्यक्तित्व का निर्माण जरूरी : शांडिल्य


FAT25फतेहपुर शेखावाटी, 25 अप्रैल। हिंसा से मुक्ति पाने के लिए अहिंसक जीवन शैली का निर्माण जरूरी है। अहिंसा प्रशिक्षण जरूरी है। सही जीवन शैली जीने के लिए अहिंसक जीवन शैली जरूरी है और यह तभी संभव है जब हम भगवान महावीर को समझेंगे, जानेंगे और पहचानेंगे, अपने आचरण में उतारेंगे। उक्त बातें आचार्य महाप्रज्ञ अहिंसा प्रशिक्षण पुरस्कार प्राप्त अहिंसा प्रशिक्षण केंद्र के प्रभारी अहिंसा प्रशिक्षक सतीश शांडिल्य भगवान महावीर की जयंती के अवसर पर लीलावती रायजादा स्मृति भवन में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जिओ और जीने दो का संदेश भगवान महावीर ने दिया था। अहिंसा कायरों की शक्ति नहीं है, अहिंसा बहादुरों की शक्ति है। प्रत्येक सामाजिक प्राणी की जीवन शैली में अहिंसा समाहित है। समाज का प्राणी अहिंसा को पसंद करता हंै क्योंकि वह शांति से जीना चाहता है और शांति से जीने के लिए अहिंसा जरूरी है। जहां अहिंसा है, वहां शांति है। दोनों एक दूसरे का पूरक है। इस अवसर पर कुमारी अलका ने भगवान महावीर एक गीत का प्रस्तुत किया। कोरोना वायरस से बचना है तो भगवान महावीर का प्रेक्षा ध्यान साधना आराधना के शरण में जाना होगा। ध्यान करने से इम्यूनिटी पावर बढ़ती है। इसलिए ध्यान साधना प्रत्येक साधक को करना चाहिए। हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि भीड़ क्या है। हमें यह देखना चाहिए कि जिस कार्य के लिए हम बैठे हैं, चाहे 5 ही हो लेकिन कार्य का वर्तमान परिवेश में उसके उद्देश्य को समझना चाहिए। कार्यक्रम को संक्षिप्त रूप में किया गया और भगवान महावीर की जयंती मनाई गई। उनको याद किया गया और अशांत विश्व को शांति के राजमार्ग पर चलना होगा तो उसे भगवान महावीर के संदेशों को समझना होगा यह बात अपने उद्बोधन में अहिंसा प्रशिक्षक सतीश शांडिल्य ने कहा। सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखा गया तथा इस अवसर पर अहिंसा प्रशिक्षण केंद्र में मास्क वितरण किया गया।

Dailyhunt पर न्यूज देखने के लिय क्लिक करे - http://dhunt.in/etGeL?s=a&uu=0x8365349ae1933ba1&ss=wsp

Circle पर न्यूज देखने के लिय क्लिक करे - https://circle.page/post/6413494?utm_source=an&person=6256903

 

भगवान महावीर जयंती के अवसर पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं-सतीश शांडिल्य

अखबार समाचार का एक आंदोलन होता है: वैद्य शर्मा

325फतेहपुर शेखावाटी, 24 अप्रैल। अखबार एक से दूसरे जगह का समाचार जानने का एक माध्यम होता है, अखबार समाचार का एक आंदोलन होता है, अखबार पढ़ लेने पर समाचार चाहे सुख भरी हो या दुख भरी हो या रोजगार संबंधी हो, इन सबकी अखबार जानकारी देता है। अखबार में समाचार भेजने वाला रिपोर्टर या संवाददाता निष्पक्ष होना चाहिए क्योंकि निष्पक्ष होकर ही अपनी कलम पत्रकारों को चलाना चाहिए। उक्त बातें मारुति विद्या निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल स्थापित मारुति आयुर्वेद औषधालय के कक्ष में शेखावाटी टुडे के 18 में वर्ष में प्रवेश करने पर मुख्य वक्ता के रूप में अप्रैल के प्रथम पक्ष के अंक का लोकार्पण करते हुए आयुर्वेद विभाग के बीकानेर संभाग के  सेवानिवृत्त पूर्व उपनिदेशक वैद्य रामावतार शर्मा ने अपने उद्बोधन में कही। उन्होंने इस अवसर पर पूरे ब्रह्मांड के प्रथम पत्रकार नारद मुनि के बारे में भी चर्चा की। साथ ही साथ उन्होंने आधुनिक युग में छोटे-छोटे चापलूसी करने वाले टुकड़े गैंग के गिरते पत्रकारिता स्तर पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि आधुनिक पत्रकारों को नारद मुनि की तरह निष्पक्ष और निर वैर होना चाहिए। इस अवसर पर संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए आचार्य महाप्रज्ञ अहिंसा प्रशिक्षण पुरस्कार प्राप्त अहिंसा प्रशिक्षण केंद्र फतेहपुर शेखावाटी के प्रभारी अहिंसा प्रशिक्षक सतीश शांडिल ने कहा कि हम आज के मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता तथा शेखावाटी टुडे के अंक के लोकार्पणकर्ता डिप्टी डायरेक्टर पूर्व आयुर्वेद विभाग के वैद्य राम अवतार शर्मा जी के विचारों से प्रभावित हैं। उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में जो घटनाएं घटित हो रही है, जैसा देखने को मिल रहा है यह बिल्कुल सही बात है। मैं भी यह कहना चाहूंगा कि मीडिया को बिकाऊ नहीं होना चाहिए, बिकाऊ होने से मीडिया को बचना चाहिए। प्रामाणिकता के साथ समाचारों को संप्रेषित करना चाहिए। शेखावाटी टुडे निर्भीक, निडर और चौथा स्तंभ है। भारत जैसे लोकतंत्र में अखबारों को चौथा स्तंभ माना गया है। आजादी के पहले इस देश में जो पत्रकारिता का स्तर था, वह आजादी के बाद से स्तर एक तरफ बढ़ा है तो दूसरी तरफ नैतिकता गिरी है। इसका मतलब यह नहीं है कि सभी पत्रकार ऐसे ही हैं। अच्छे लोग भी हैं। इस अवसर पर मारुति विद्या निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल के निदेशक मनोज शर्मा ने आगंतुक अतिथियों के प्रति आभार जताया तथा सभी लोगों को मारुति विद्या निकेतन की ओर से जलपान कराया गया। वहीं जो मास्क लगाकर नहीं आए थे उनको मास्क वितरण किया गया और डिस्टेंस का भी ख्याल रखा गया। शेखावाटी टुडे के संपादक विजय शर्मा जी की भूरी भूरी प्रशंसा की गई और वक्ताओं ने कहा कि ऐसे संपादक पर हमें गर्व है रामगढ़ से छोटे शहर में अन्य अखबारों के साथ इस अखबारों को निकलना अर्थात शेखावाटी टुडे का निकलना काबिले तारीफ है। शेखावाटी राजस्थान के प्रवासियों को यह अखबार काम करता है और प्रवासियों के जन्म भूमि का समाचार महानगर तक पहुंचाता है। यह एक पवित्र कार्य है। बाबू सिंह राठौड़ ने वैद्य रामावतार शर्मा जी के निर्देशन पर मास्क वितरण किया। तरुण इंजीनियर तथा नवीन शर्मा ने भी अपना विचार रखे। स्वागत अध्यक्ष मारूती विद्या निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल के कोषाध्यक्ष उर्मिला शर्मा ने आगंतुक अतिथियों का स्वागत किया तथा शेखावाटी टुडे जैसे अखबार की सराहना की तथा कहा कि नारी भी किसी क्षेत्र में पीछे नहीं है, बिहार के अंजना ओम कश्यप जैसी मीडिया में काम करने वाली महिलाओं को कौन नहीं जानता। कार्यक्रम शानदार रहा शहर के गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

542

 

 

 


 

 

शेखावाटी के अन्य स्थानों की खबरें-   रामगढ  चूरू   लक्ष्मणगढ   सीकर   झुंझुनूं    प्रदेश   रतनगढ    बिसाऊ

Visitor No.

23858

शेखावाटी के अन्य स्थानों की खबरें 

रामगढ                  फतेहपुर   लक्ष्मणगढ            सीकर   चूरू                      झुंझुनूं      प्रदेश          रतनगढ    बिसाऊ